Hathnikala Temple Mungeli Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ राज्य के मुंगेली जिला से 8 किमी की दुरी में स्थित आदर्श ग्राम – हथनीकला हैं। जहाँ पर जगत जननी माँ अष्टभुज दुर्गा देवी विराजमान हैं। इसी मंदिर को लोग Hathnikala Temple के नाम से जानते हैं। जीवंत रूप में विराजमान माँ दुर्गा के मंदिर हथनीकला मंदिर कैसे पहुंचे, जाने का उत्तम समय क्या …

Read more

Madku Dweep Chhattisgarh

शिवनाथ नदी के दो भागों में बटने से बने बहुत ही खूबसूरत आईलैंड, जो ईशानकोण में बहने से इसे धार्मिक महत्ता मिलती हैं। जो मालदीव की खूबसूरती से भी अद्भुत हैं। छत्तीसगढ़ और अन्य प्रदेशों से आने वाले लोग इसे Madku Dweep के नाम से जानते हैं। मदकू द्वीप क्यों प्रसिद्ध हैं। यहाँ कैसे पहुंचे, …

Read more

Narayanpal Temple Bastar Chhattisgarh

In these posts, all information is given about the Narayanpal temple in Bastar. Such as history, who made it, which genre is it made of, and how to reach this place. On this page, you will get all the information. Please read this page completely. Narayanpal Temple | नारायणपाल मंदिर बस्तर छत्तीसगढ़ छिन्दक नागवंशी राजाओं …

Read more

Ganesha Temple Barsoor Chhattisgarh

World’s third largest idol of Lord Ganesha found in Barsoor. It is about 7 feet high, Ganesha temple barsoor is made by breaking a single sand stone. गणेश मंदिर बारसूर | Ganesha Temple Barsoor Dantewada Chhattisgarh दंतेवाड़ा से कुछ ही किलोमीटर गीदम के जंगलों में बालू पत्थर से निर्मित भगवान गणेश की दो युगल मूर्ति …

Read more

Chaiturgarh Fort Korba Chhattisgarh

Most Beautiful View Point & Tracking point in the Korba-Bilaspur District, this place is Chaiturgarh Fort in Korba Chhattisgarh. Make sure to take the time to visit this Maikal Mountain range once. Believe me this place is amazing. Chaiturgarh | चैतुरगढ़ खुबसूरत वादियों, विह्गम दृश्य और पहाड़ो की पूरी श्रृंखला देखने के लिए आप चैतुरगढ़ …

Read more

Danteshwari Mata Dhantewada Chhattisgarh

डंकनी-शंखनी नदी के तट पर विराजित दंतेश्वरी माता (Danteshwari Mata) बस्तर क्षेत्रवासी ही नहीं अपितु पुरे छत्तीसगढ़ के लोगो के लिए पूजनीय हैं। दंतेश्वरी मंदिर छत्तीसगढ़ | Danteshwari Mandir Chhattisgarh बस्तर की आराध्य माता दंतेश्वरी मंदिर डंकनी-शंखनी के संगम स्थल पर स्थित हैं। जो पूरी तरह से बस्तरवासियों के लिए आस्था और श्रद्धा का प्रतिक …

Read more

Rajim Chhattisgarh Tourism

सोडूर-पैरी-महानदी संगम के पूर्व में बसा राजिम अत्यंत प्राचीन समय से छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख सांस्कृतिक केंद्र रहा हैं। दक्षिण कोसल के नाम से प्रख्यात क्षेत्र प्राचीन सभ्यता, संस्कृति एवं कला की अमूल्य निधि संजोयें इतिहासकारों, पुरातत्वविदों और कलानुरागियों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ हैं। छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहा जाने वाला यह शहर …

Read more