Guru Ghasidas Tiger Reserve Baikunthpur Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के चौथा और सबसे बड़े National Park – Guru Ghasidas Tiger Reserve Baikunthpur Chhattisgarh में निर्मित हैं। छत्तीसगढ़, झारखण्ड, और मध्यप्रदेश से लगे सीमाओं से लगा हुआ यह राष्ट्रीय उद्यान, उदंती सीतानदी, अचानकमार टाइगर रिज़र्व, और इंद्रावती राष्ट्रिय उद्यान के बाद छत्तीसगढ़ राज्य का चौथा Tiger Reserve हैं। जिसकी खूबसूरती का अंदाजा आप वहां सफारी करके ही लगा सकते हैं।

इस पोस्ट में आपको गुरु घासीदास वन्यजीव अभ्यारण के बारे में जानकारी दी जाएगी। जिसमे आपको वहां कैसे पहुंचे, कहा पर स्थित हैं, जाने का उत्तम समय और अभ्यारण के अंदर घूमने/देखने वाले पर्यटन स्थलों की जानकारी पढ़ने को मिलेगा।

Guru Ghasidas Tiger Reserve | गुरु घासीदास वन्यजीव अभ्यारण छत्तीसगढ़  photo
Tiger Image

Guru Ghasidas Tiger Reserve | गुरु घासीदास वन्यजीव अभ्यारण छत्तीसगढ़

भारत के 53वां Tiger Reserve का निर्माण नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी (NTCA) के अनुमति से संजय डुबरी नेशनल पार्क मध्यप्रदेश से अलग करके बनाया गया। पहले यह क्षेत्र मध्यप्रदेश में आता था। Guru Ghasidas Tiger Reserve को बनाने के लिए सरगुजा के Tamor Pingla Park, मध्यप्रदेश और झारखण्ड के सीमाओं को लिया गया हैं।

कच्ची- पक्की सड़के, खूबसूरत ऊँचे- ऊँचे पहाड़, वादियों से गिरती हुई झरने, इस जगह की खूबसूरती को चार चाँद लगाती हैं। प्रकृति प्रेमियों को यह जगह अपने आप खींच लाती हैं। आप भी प्रकृति को महसूस करना चाहते हैं तो एक बार जरूर आइये।

गुरु घासीदास वन्यजीव अभ्यारण 1440.57 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ हैं। जिसमे बाघ, तेंदुआ, नीलगाय सहित अन्य 32 प्रकार के वन्यजीव यहाँ विचरण करते रहते हैं। Tiger Reserve के कोर जोन 2 हजार 49 वर्ग किमी तथा बफर जोन 780 वर्ग किमी में फैला हुआ हैं। 2 हजार 829 वर्ग किमी को Tiger के लिए रिज़र्व रखा गया हैं।

गुरु घासीदास अभ्यारण की स्थापना सन 2001 में मध्यप्रदेश से अलग होने के बाद हुआ था। इसे 5 अक्टूबर 2021 को टाइगर रिज़र्व बनाया गया। इसके अलावा इस पार्क में हसदेव नदी बहती है एवं गोपद नदी का उदगम स्थल भी हैं।

इस पार्क के अंदर 35 राजस्व गांव आते हैं। यहाँ रहने वाले जनजातियों में चेरवा, पांडों, गोंड, खैरवार, व अगरिया जनजाति (आदिवासी) के लोग निवास करते हैं।

Tiger Reserve animals and trees plants

यहाँ पाए जाने वाले मुख्य जानवर एवं पक्षी – Tiger (बाघ), Leopards (तेंदुआ), Nilgai (नीलगाय), Jackal (सियार), Antelope (मृग), Wild Boat, Bison (जंगली भैंसा), Hyena (लकड़बग्घा), Porcupine (साही), Bulbus (बुलबुल्स), Rufus (रूफस), red Headed (लाल सिर वाला), Vulture (गिद्ध), Racket-Tailed Drago, जैसे बहुत सारे पशु पक्षी इस जंगल में विचरण करते रहते हैं।

यहाँ पाए जाने वाले प्रमुख पेड़- पौधों के नाम – साल, साजा, सराई, महुवा, शीशम कारी, गुरजन, अचार, तेन्दु, बांस जैसे और भी बहुत सारे पेड़ पौधे पाए जाते हैं। किन्तु इस उद्यान में साल और बांस का पेड़ की मात्रा अधिक हैं।

Best time to visit Guru Ghasidas Tiger Reserve

भारत के 51वां टाइगर रिजर्व Megamalai in Tamilnadu, 52वां Ramgarh Vishdhari in Rajdhani, तथा 53वां टाइगर रिज़र्व के रूप में यह अभ्यारण विकसित हैं। इस अभ्यारण में हाईटेक सेंसरयुक्त बैरियर व CCTV लगा हुआ हैं। जिसके कारण इसे अन्य अभ्यारण से अलग बनाता हैं। इस अभ्यारण में कुल – 6 Tiger स्थित हैं।

यहाँ घूमने जाने के लिए बरसात के समय को छोड़कर सभी मौसम में पहुंचा जा सकता हैं। मानसून के दौरान इस जगह के नदी- नाले में पानी ऊपर तक चलते रहता हैं। लेकिन नवम्बर से जून तक के मौसम को घूमने के लिए उपयुक्त माना गया हैं।

गुरु घासीदास अभ्यारण में अब तक के तापमान में न्यूनतम 8 से 10 डिग्री तथा अधिकतम 42 डिग्री सेल्सियस तक मापा गया हैं।

Places to visit Inside Tiger Reserve Park Korea

वैसे तो इस जगह पर बहुत सारे घूमने लायक स्थान हैं। किन्तु प्रमुख स्थानों को हम यहाँ उल्लेखित कर रहे हैं।

  • आमापानी – गोपद नदी की उदगम स्थल
  • हसदेव नदी उदगम स्थल (गोपद नदी उदगम स्थल से 6 किमी की दुरी पर हैं।
  • खेखड़ा हिल टॉप
  • गंगारानी माता गुफा
  • नीलकंठ जलप्रपात
  • अनंतपुर
  • सिद्ध बाबा गुफा

TIMING – MORNING 8:00 AM TO EVENGIN 6:00 PM (BUT NO ENTREE IN 4:00 PM O’CLOCK)

Food, Accommodation and How to Get Here

बैकुंठपुर से सोनहत मार्ग पर स्थित गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बैकुंठपुर से 5 किलोमीटर की दुरी पर स्थित हैं। यहाँ पहुंचने का कुछ प्रमुख साधनों का उल्लेख करेंगे –

  • By Air – छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित एक मात्र हवाई अड्डा स्वामी विवेकानंद हवाई अड्डा माना के लिए आप कहीं से भी उड़ान भर सकते हैं।
  • By Train – रायपुर और बिलासपुर रेलवे जंक्शन में सभी तरह के ट्रेनों की आवाजाही होती हैं। यहाँ के सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन बैकुंठपुर हैं।
  • By Road – छत्तीसगढ़ टाइगर रिजर्व पहुँचने के लिए राजधानी रायपुर से 320 Km, बिलासपुर से 210 Km, अंबिकापुर से 80 Km, कोरिया जिला के बैकुंठपुर से 30 Km, एवं सोनहत से 6 km की यात्रा करके यहाँ तक पहुंचा जा सकता हैं।

Accommodation & Food –

टाइगर रिजर्व के आसपास आपको कोई भी home stay, या होटल देखने को नहीं मिलेगा। खाने और रहने के लिए आपको बैकुंठपुर में ही मिलेगा।

Nearby Tourist Placec in Baikunthpur District

कोरिया जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल –

  • Amri Dhara Waterfall
  • Gaurghat Waterfall
  • Jhumka Dam
  • Podi Jagannath temple Chirmiri
  • Shivdhara waterfall
  • Raja Mahal
  • Korea Palash
  • Ramdah Waterfall
  • Kuberghat falls

Guru Ghasidas Tiger Reserve Video

This Video Making by YouTuber – DK808

Guru Ghasidas Tiger Reserve Vehicle Charges?

Yes. Bike -50 Rs., and Car – 200 Rs.

Best Time to Visit Guru Ghasidas Tiger Reserve?

Number to June.

What are the entry timings in Guru Ghasidas Tiger Reserve?

Morning 8:00 Am to 4:00 Pm.

Where is Guru Ghasidas Tiger Reserve?

In Korea District of Chhattisgarh State.

Which is the 53st Tiger Reserve of India?

Guru Ghasidas Tiger Reseve Chhattisgarh.

Opinion – दोस्तों इस जगह पर हम लोग भी नहीं गए हैं। इस पोस्ट में दी गई जानकारी हमने Youtube और Internet Suffering से प्राप्त किया हैं। इसे यूट्यूब पर देखने से लगता हैं की यह स्थान बहुत सुन्दर होगा। आप वन्यजीव और प्राकृतिक चीजों में लगाव रखते है, तो इस जगह पर घूमने अवश्य जाइये और अपना अनुभव comment box में जरूर लिखियेगा।

Leave a Comment